Please experts I want some key points on the topic "Dharam jodta Hai todta Nahi" fr the debate point of view please experts it is urgent

 धर्म तो दिलों को जोड़ता है, तोड़ता नहीं। यह बात साध्वी स्नेहाबाई ने बसई में सद्भावना सत्संग के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि धर्म वह पवित्र धारा है जिसमें मानव जाति का संपूर्ण जीवन सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि सद्भावना का संदेश जन-जन तक पहुंचाने का प्रयास किया जाना चाहिए।

प्रवचन के दौरान कहा गया कि सद्भावना के अभाव में अक्सर देश और परिवार के रिश्ते कमजोर हो जाते हैं। इसलिए सभी धर्मो का आदर करते हुए उन्हें बराबर का सम्मान दिया जाना चाहिए। सत्संग मनुष्य के विचारों को पवित्र करता है। सत्संग ही सत्य के तत्व से जानने की प्रेरणा देता है। सत्य प्राप्ति की जिज्ञासा प्राणी मात्र को सत्संग के माध्यम से ही प्राप्त होती है।

   

  • 1
hope it helps
  • 0
For
-sabhi dharmo ke udeshya ek he h
Manav matra k prati sam darshi swabhav
- bhin dharmo k guru alag kyu n ho pr parmatma ek he h
- hume dharm k naam pr svayam ki sidhi k liye nhi ladna chahiye
  • 3
What are you looking for?