Khanpan ki badalti thasveer....

उत्तर – उत्तर भारत के स्थानीय व्यंजन हैं - रोटी, दाल और साग।
दक्षिण भारत के स्थानीय व्यंजन हैं - इडली, डोसा, सांभर, बड़ा और रसम।

उत्तर – खानपान की इस बदली हुई संस्कृति से नयी पीढ़ी सर्वाधिक प्रभावित हुई है।

उत्तर:- खानपान में बदलाव से निम्न फायदे हैं –
1.भिन्न प्रदेशों की संस्कृतियों को जानने और समझने का मौका मिलना।
2. राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा मिलना।
3. अलग-अलग प्रकार के भोजन खाने में मिलने के कारण खाने में रूचि बने रहना।
4. देश-विदेश के व्यंजन मालूम होना।
5. गृहिणियों व कामकाजी महिलाओं को जल्दी तैयार होनेवाले विविध व्यंजनों की विधियाँ उपलब्ध होना।
6. स्वाद, स्वास्थ्य व सरसता के आधार पर भोजन का चयन कर पाना।
7. समय की बचत होना।
 

  • 0
Answer is
  • 0
What are you looking for?