1. kancha lesson's full meaning

कंचा पाठ में लेखक ने बालमन की सहजता एवं कल्पना का वर्णन किया है। कहानी के पात्र अप्पू को कंचे बहुत प्यारे हैं। वह अपनी स्कूल की फीस से कंचे खरीद लेता है। वह इन कंचों से जॉर्ज को हराना चाहता है। कंचों को जार में देखकर वह अपनी कल्पना के संसार में चला जाता है। ऐसी स्थिति उसके समाने कई बार आती है। एक बार दुकानदार के पास और दूसरी बार कक्षा में पढ़ाते हुए। उसे बस कंचे ही कंचे नज़र आ रहे हैं। लेखक ने अपनी कहानी में बच्चों की कल्पना को बहुत अच्छा उतारा है। बच्चों को जीवन की वास्तविकता से कोई सरोकार नहीं होता। वह अपनी दुनिया में रहते हैं। लेखक इस कहानी के माध्यम से उनके बालमन को दिखाने में सफल हुए हैं।

  • 0
What are you looking for?