Answer this question in 80-90 words (4
marks)

उत्तर :- 

कवि ने इस पंक्ति में तर्क से परे रास्ते को छोड़कर सभी मनुष्यों को पथ का एक सावधान यात्री बनने को कहा है । इस पंक्ति की सार्थकता अभी के समय में भी है । वर्तमान समय में इसका औचित्य और अधिक बढ़ जाता है , क्योंकि अभी के समय में असहिष्णुता चारों तरफ विद्यमान है । अभी के समय में सब को एकसाथ और सावधानी से लेकर चलना बहुत कठिन हो चुका है , लेकिन यह आवश्यक भी है । 

इस आधार पर आप अपना उत्तर लिख सकते हैं । 

  • 0
What are you looking for?